Recent Posts

शांघाई सहयोग परिषद



                     शांघाई सहयोग परिषद
सदस्य देश:- 8       1)कजाकिस्तान
                           2)चीन
                           3)किर्गिस्तान
                           4)रूस
                           5)ताजिकिस्तान
                          6)उज्बेकिस्तान 15 जून 2001मेंशामिल
                          7)भारत
                          8)पाकिस्तान
   स्थापना:-1996 में 5 सदस्य देश ।
   9जून 2017 में भारत और पाकिस्तान को पूर्ण सदस्यता मिल।ये पहले पर्यवेक्षक देश थे।
सचिवालय:-बीजिंग (चीन)
  सम्मेलन:- 18वाँ चीन
                 19वाँ किर्गिस्तान (बिश्केक)
                 20वाँ रूस में होगा।
संगठन का उद्देश्य:- ऊर्जा ,परिवहन,पर्यावरण सरक्षंण, पर्यटन इत्यादि विषयो पर सहयोगात्मक पहल कर सदस्य देशों में विश्वास और सदभवना विकसित करना।
मध्य एशिया में शांति स्थापना हेतु प्रयास।
आतंकवाद की समस्या का समाधान।
सम्बन्धित क्षेत्र में शांति सुरक्षा और सहयोग बनाने रखना।

भारत के लिए सम्मेलन की मुख्य बातें:-
   पूर्ण सदस्यता प्राप्त करने के बाद पहला सम्मेलन। 
   भारत की ओर से नरेंद्र मोदी द्वारा भाग लिया गया । (यात्रा ईरान होते हुए ।
    मोदी द्वारा सहयोग हेतु HEALTH मन्त्र दिया गया।
      H = Health care cooperation
      E = Economic cooperation
      A = Alternate energy
      L = Literature & culture
      T = terrorism free socity
      H = Humanitarian cooperation
    चीन के राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय वार्ता।
    आतंकवाद को वैश्विक चुनोती के रुप मे दृष्टि गत करने में सफलता साथ ही अजर मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने में सफलता ।

भारत के लिये SCO का महत्व:- 
  एक वैश्विक मंच के रूप में जहाँ आतंकवाद और प्रवासियों का मुद्दा उठाया जा सकता है साथ ही इन मुद्दों पर सहयोग तथा सूचना आदान प्रदान भी ।
ईरान पर प्रतिबंध के बाद ऊर्जा सुरक्षा हेतु भारत द्वारा मध्य एशिया के ऊर्जा भंडारो का प्रयोग।

Post a Comment

0 Comments